होम्योपैथिक दवाओं के उपचार से सफेद दाग को पूर्णतया समाप्त किया जा सकता है:-डॉ हेमन्त श्रीवास्तव

प्रमिला होम्यो क्लीनिक एंड रिसर्च सेंटर महाराजगंज के होम्योपैथ  चिकित्सक डॉ हेमंत श्रीवास्तव ने बताया कि सफेद दाग अब लाइलाज बीमारी नहीं रह गई ,समाज में अब अपने आप को हेय दृष्टि से नहीं देखना पड़ेगा ,अगर आप सफेद दाग के रोगी हैं तो समाज में भी सर उठाकर जी सकते हैं सफेद दाग का पूर्णतया समाधान संभव है अगर समय से होम्योपैथी दवाइयों का सेवन परहेज के साथ किया जाए तो निश्चित रूप से सफेद दाग जड़ से समाप्त हो सकता है ,होम्योपैथिक में लक्ष्य के अनुरूप दवाइयों का चयन करने के बाद मरीज को सफेद दाग की दवा दी जाती है जिससे धीरे-धीरे सफेद दाग के धब्बे अपने पुराने रूप में आना प्रारंभ कर देते हैं ,और सामान्य चमड़ी की तरह हो जाते हैं, और पुनः इसका रूप परिवर्तित नहीं होता ,डॉ हेमंत श्रीवास्तव ने बताया अगर होम्योपैथिक दवाइयों को एक प्रशिक्षित चिकित्सक से लेते हैं तो निश्चित रूप से लाभ मिलेगा सफेद दाग के मरीजों को खट्टी चीजों से परहेज करने चाहिए तथा जिन चीजों से बीमारी बढ़ती है उनका परहेज करने से लाभ प्राप्त होगा, होम्योपैथिक दवाइयां लक्षण पर आधारित होती हैं ,और किसी भी रोग को जड़ से समाप्त करने के लिए उपयुक्त होती है, गांधी जी ने कहा था  रोग से नफरत करो रोगी से नहीं, किसी भी सफेद दाग के मरीज से छुआछूत व भेदभाव की भावना ना रखें,इलाज से यह बीमारी जड़ से समाप्त हो सकती है!